शनिवार, 17 मार्च 2012

भारत रत्न तैयार है.

भारत रत्न के इंतजार की घड़ियाँ समाप्त हो गई.

अब बारत रत्न को इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

अंततोगत्वा सचिन से सौवां शतक बनवा ही लिया.

अब भारत रत्न के रास्ते में कोई रुकावट नहीं है.

अगले साल भारत रत्न देने के लिए समिति के सदस्यों को संघर्ष नहीं करना पड़ेगा.

भारत रत्न तैयार है...


अयंगर.